दिल्ली में हर महीने 6 लाख कॉन्डम मतलब , 6 लाख रेप  : स्वाति मालीवाल

दिल्ली में हर महीने 6 लाख कॉन्डम मतलब , 6 लाख रेप : स्वाति मालीवाल

राष्ट्रीय 0 Comment 11
नई दिल्ली , 5  अगस्त।  दिल्ली में जीबी रोड इलाके पर वेश्यावृति पर बड़ा बयान  देते हुए दिल्ली महिला आयोग की नवनियुक्त अध्यक्षा स्वाति मालीवाल ने निंदा की है। उन्होंने कहा की इन इलाको में हर महीने 6 लाख कोंडोम , 6 लाख रेप की ओर इशारा करते है यह समाज पर दाग है। ताजुब है कि दिल्ली में इसकी इजाजत दी जाती है। स्वाति ने कहा कि दिल्ली सरकार उगले 3 साल में रेड लाइट इलाके में रहने वाली महिलाओं के उतथान के लिए काम करेगी। 

मालीवाल ने कहा, ‘मुझे हैरानी है कि लोग इसे स्वीकार कर रहे हैं। जीबी रोड का दौरा करने के बाद मैंने इसके बारे में ढेर सारे लोगों से बात की और उन्होंने कहा कि यदि आप रेडलाइट एरिया बंद करवा देती हैं तो रेप बढ़ जाएंगे। मैं ऐसी मानसिकता की निंदा करती हूं। वह ‘नैशनल कन्सल्टेशन ऑन ह्यूमन ट्रैफिकिंग ऑन इंडो नेपाल बॉर्डर’ पर बोल रही थीं। नेपाल में भूकंप के बाद इस मसले की तहकीकात करने के लिए सेमीनार का आयोजन पैरवी एनजीओ ने किया था। मालीवाल ने महिला आयोग की कमान संभालने के बाद कहा, ‘मैंने जीबी रोड इलाके में अगले तीन सालों में सारी समस्याएं सुलझाने का प्रण किया है।’

मालीवाल ने कहा, ‘जल्द ही दिल्ली महिला आयोग की तरफ से ट्रैफिकिंग कमिटी का गठन किया जाएगा और हम केंद्र के साथ मिलकर काम करेंगे।’ मालीवाल ने कहा कि दिल्ली के प्रोटेक्शन हाउस में जिन लड़कियों को रखा गया है वहां की स्थिति में सुधार हो रही है। मालीवाल ने कहा, ‘मैंने सुना था कि प्रोटेक्शन होम की हालत बदतर है और वहां रह रहीं लड़कियां फिर से जीबी रोड जाना चाहती हैं।’ उन्होंने कहा, ‘अधीक्षक भी 25 सालों तक नहीं बदलते हैं जिससे बड़ी साठगांठ का संकेत मिलता है। हम इन पहलुओं पर भी काम करेंगे और अपनी सिफारिशें देंगे। इसके साथ ही जब तक उन्हें स्वीकार नहीं किया जाता, तब तक उस दिशा में प्रयास करते रहेंगे। ‘ मालीवाल ने कहा कि दिल्ली महिला आयोग घरेलू मेडों के शोषण पर रोक लगाने के लिए दिल्ली की सभी प्लेसमेंट एजेंसियों के निरीक्षण का अभियान शुरू करेगा और पता लगाएगा कि वे पंजीकृत हैं या नहीं, उनके जरिए नौकरियां ढूंढ़ रही लडकियों का रिकार्ड मांगेगा।

आनंद पर्वत इलाके में 19 साल की मीनाक्षी की हत्या का उल्लेख करते हुए मालीवाल ने कहा, ‘हम दिल्ली में महिला सुरक्षा पर एक अध्ययन करना चाहते हैं और केंद्र, राज्य सरकार और दिल्ली पुलिस के लिए सिफारिशें करेंगे।’ उन्होंने कहा, ‘इसके लिए, हम प्रायोगिक क्षेत्र के रूप में आनंद पर्वत को लेंगे और पुलिस से थाने में मिली सभी शिकायतों का ब्योरा उपलब्ध कराने को कहेंगे और जानना चाहेंगे कि एफआईआर दर्ज हुईं या नहीं और यदि हुईं तो उन मामलों की स्थिति क्या है।’ मालीवाल ने पुलिस कमिश्नर को महिलाओं के खिलाफ अपराध की बढ़ती शिकायतों के बारे में सूचना मांगते हुए पत्र लिखा है।

  

Share.

Author

Leave a comment

ENTERTAINMENT

तब्बू की एंट्री से फिल्म ” दृश्यम ” ट्रैक पर आती है

देखी हुई बात जरूरी नहीं है कि सच हो, इस बात के इर्दगिर्द घूमती है फिल्म निर्देशक निशिकांत कामत की ...
Read More

ADVERTISE WITH US



COPYRIGHT © DAY NIGHT INDIA. All Rights Reserved.

24 X 7 Helpline Number
+91 - 8802078115

POWERED BY :Aaryawebsolution.in



Back to Top